Meri Fasal Mera Byora Haryana 2021: Online Registration

किसानों का भारत में बहुत महत्व है। खेती और किसान भारत की अर्थव्यवस्था में काफी बड़ा योगदान देते हैं। किसानों के द्वारा उगाया हुआ अनाज ही सारा देश खाता है। जैसे जैसे समय बदल रहा है वैसे वैसे खेती में भी काफी सारे बदलाव आ रहे हैं। इस टेक्नोलॉजी के युग में कोई भी टेक्नोलॉजी से अलग होकर नहीं रह सकता। इसीलिए खेती में भी काफी सारी टेक्नोलॉजी का उपयोग होना शुरू हो गया है। कई जगह टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किसान फसल उगाने के लिए करते हैं तो कई जगह खेती से जुड़े हुए बाकी सरकारी कामों में भी टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल होने लगा है।

इसी तरह की एक टेक्नोलॉजी होती है वेबसाइट या वेब पोर्टल। आज हम इस लेख में एक सरकारी वेब पोर्टल Meri Fasal Mera Byora के बारे में बात करने वाले हैं। हर महीने इस वेब पोर्टल को काफी सारे किसान उपयोग करते हैं। इसीलिए आज हम इस आर्टिकल में इस पोर्टल से जुड़ी हुयी काफी सारी जानकारी जैसे की Meri Fasal Mera Byora पोर्टल क्या है?, इसका उद्देश्य, लाभ आदि के बारे में बात करेंगे। तो अगर आप भी इस पोर्टल के बारे में जानकारी लेना कहते हैं तो हमारे इस आर्टिकल को आप अंत तक पढ़ सकते हैं।

Meri Fasal Mera Byora Haryana: Overview 

Meri Fasal Mera Byora असल में एक वेब पोर्टल है। यह ऑनलाइन पोर्टल हरयाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर द्वारा शुरू किआ गया है। वैसे हम इसको सिर्फ एक वेब पोर्टल न कहते हुए एक पूरी योजना भी कह सकते हैं। क्योंकि इस पोर्टल पर पहले किसानों को अपनी फसल का पूरा ब्यौरा दर्ज करना होगा। इसके बाद हरयाणा की सरकार उस ब्योरे के माध्यम से राज्य के किसानों को विभिन्न योजनाओं का लाभ देगी। इस पोर्टल पर अपनी फसल का ब्यौरा दर्ज करने के बाद किसानों को अनुदान, बीमा कवर आदि प्राप्त करने में आसानी होगी। यह किसानों के लिए एक काफी उपयोगी पोर्टल है क्यूंकि इसपर अपनी फसल का ब्यौरा दर्ज कराने के बाद किसान काफी सारे सरकारी कार्यालयों के चक्कर काटने से भी बच सकते हैं।

यह पोर्टल हरयाणा के मुख्यमंत्री द्वारा जून 9, 2019 को शुरू किआ गया था। ऐसा नहीं है की इस पोर्टल का लाभ सिर्फ हरयाणा के किसान ही उठा सकते हैं। परन्तु इस पोर्टल का लाभ हरयाणा के बहार के किसान भी कुछ चुनिंदा फसल जैसे की धान के लिए उठा सकते हैं। इस पोर्टल के काफी सारे लाभ हैं जिनकी हम आगे वाले भागों में चर्चा करेंगे।

Also Read:- Sarthi

(1) मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल के लाभ 

वैसे तो मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल के काफी सरे फायदे हैं लेकिन इसके कुछ फायदे हम नीचे लिख रहे हैं:-

  1. पहला और सबसे महत्वपूर्ण फायदा इस पोर्टल का यही है की इसपर आवेदन देने के बाद काफी सारी सरकारी योजनाओ का लाभ किसानों को सीधे मिल जाता है।
  2. इस पोर्टल पर अपनी फसल का ब्यौरा दर्ज करने के बाद किसानों को काफी सारे अनुदान जैसे की कृषि उपकरणों पर मिलने वाला अनुदान आसानी से मिल सकता है।
  3. इस पोर्टल के माध्यम से सरकार किसानों को प्राकृतिक आपदाओं से फसलों को हुयी क्षति का मुआवजा आसानी से प्रदान कर सकती है।
  4. मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर काफी सारा ब्यौरा एक साथ दर्ज हो जाता जिससे की सरकारी विभागों को आसानी होती है।
  5. यह पोर्टल कृषि के क्षेत्र में डिजिटल इंडिया अभियान को भी बढ़ावा देता है।

(2) पोर्टल पर पंजीकरण करने के दस्तावेज

जैसे की सभी सरकारी योजनाओं में होता है इस पोर्टल पर भी पंजीकरण करने के लिए कुछ दस्तावेज ज़रूरी होते हैं। उनमे से कुछ दस्तावेज हमने नीचे लिख दिए हैं।

  • ज़मीन के कागज़ात
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • आवेदक का आधार कार्ड
  • आवेदक हरियाणा का स्थायी निवासी होना चाहिए ।
  • मोबाइल नंबर
  • निवास प्रमाण पत्र
  • पहचान पत्र

मेरी फसल मेरा ब्यौरा 2021 आवेदन प्रक्रिया 

इस पोर्टल पर आवेदन आपको एक प्रक्रिया से करना होगा। यह प्रक्रिया हम नीचे लिख रहे हैं।

1. आवेदन करने के लिए पहले आपको Meri Fasal Mera Byora की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा।

2. वेबसाइट के होमपेज पर आपको “किसान अनुभाग” विकल्प पर क्लिक कर देना होगा।

meri fasal mera byora
meri fasal mera byora

3. क्लिक करने के बाद आपकी स्क्रीन पर एक नया पेज खुलेगा जिसपर काफी सारे विकल्प होंगे। उनमेसे आपको “किसान पंजीकरण (हरयाणा)” वाले ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।

Kisan Panjikaran
Kisan Panjikaran

4. अब अगले पेज पर आपको अपना मोबाइल नंबर डालके लॉगिन कर देना है।

5. नए पेज पर आपको कुछ जानकारी जैसे की परिवार आईडी, मोबाइल नंबर ,आधार नंबर इनमे से कुछ भी एक आपको भरना होगा।

panjikaran
panjikaran

6. जानकारी भरने के बाद सर्च के बटन पर क्लिक कर देना है। अब आपके मोबाइल नंबर पर एक OTP आएगा इस OTP को भरने के बाद पंजीकरण के लिए फॉर्म स्क्रीन पर खुल जाएगा।

7. पंजीकरण का फॉर्म चार चरणों में भरना होता है। पहले चरण में किसान पंजीकरण होता है इसमें आपको खुदसे जुड़ी हुई जानकारी भरनी होती है।

8. अगले चरण में फसल से जुड़ा हुआ विवरण भरना होता है। इसके बाद तीरा चरण खुलेगा इसमें किसान को अपने बैंक खाते से जुड़ा हुआ विवरण दर्ज करना होता है।

9. इसके बाद आता है चौथा और आखरी चरण जिसमें आपको मंडी /आढ़ती से जुड़ा हुआ विवरण दर्ज करना होगा।

10. यह सारे चरणों को पूरा करने के बाद आपको फॉर्म सबमिट कर देना होगा और पंजीकरण पूरा हो जाएगा।

Also Read:- Mahabhulekh

आवेदन फॉर्म को प्रिंट करने की प्रक्रिया 

मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल से आप आवेदन फॉर्म को प्रिंट भी कर सकते हैं इसके लिए आपको नीचे दी हुयी प्रक्रिया का पालन करना होगा।

1. सबसे पहले आपको ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना है। वेबसाइट के होमपेज पर पहुंचने के बाद आपको “किसान अनुभाग” वाले विकल्प पर क्लिक कर देना होगा।

meri fasal mera byora
meri fasal mera byora

2. क्लिक करने के बाद आपकी स्क्रीन पर एक नया पेज खुल जाएगा। इस पेज पर आपको “पंजीकरण प्रिंट (हरयाणा)” का ऑप्शन मिलेगा आपको इसी पर क्लिक कर देना है।

Panjikaran print
Panjikaran print

3. अब आपके सामने स्क्रीन पर एक फॉर्म खुल जाएगा। इस फॉर्म में आपको कुछ जानकारी जैसे की नाम, मोबाइल संख्या, बैंक खाता संख्या भरने के बाद “प्रिंट करें” ऑप्शन पर क्लिक कर देना है।

fasal byora
fasal byora

4. इसके बाद आपकी स्क्रीन पर आवेदन फॉर्म खुल जाएगा जिसको आप प्रिंट भी कर सकते हैं।

Also Read:- Nadakacheri

Final Words

तो यह थीं Meri Fasal Mera Byora पोर्टल से जुड़ी हुई कुछ महत्वपूर्ण जानकारी। हमने इस लेख में वह सारी जानकारी देने की कोशिश की है जिसे लोग अक्सर ऑनलाइन खोजते हैं। अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर भी कर सकते हैं।

Leave a Comment